back

Meet Ravi Kishan: The Political Actor

He is the son of a priest. He is a Bhojpuri superstar. He is also a politician fighting to bring the contentious Gorakhpur seat back into BJP’s fold. Who is he? 🎥

05/19/2019 3:00 AM
  • 2.4m
  • 874

804 comments

  • Ishak K.
    05/19/2019 03:02

    Clown

  • Subhrajit D.
    05/19/2019 03:02

    Zindagi jhandwa fir bhi ghamandwa.

  • Amos A.
    05/19/2019 03:02

    Let him be!!

  • Abhishek K.
    05/19/2019 03:03

    Aise aise logo se rajneeti Ka kya bhala hoga

  • Amit B.
    05/19/2019 03:03

    So you have no minimum development program but only one for looting us.

  • Sushant C.
    05/19/2019 03:03

    Let us choose a leader who is from a normal background like we do. Who is not born with a silver spoon and a special kid trying to be normal. Let us show dynasties power of common people. Go out of your homes and vote. We will vote in huge numbers despite of hot weather. Vote for development, Vote for stronger India.

  • Daya A.
    05/19/2019 03:03

    Life cycle of politician: Child-teenager-actor-politician.

  • Iqbal C.
    05/19/2019 03:03

    Esko b 8,10 crore mil gaye honge

  • Mohammad A.
    05/19/2019 03:03

    Loosing badly

  • Mohammad A.
    05/19/2019 03:04

    He is bhadwa

  • Mo M.
    05/19/2019 03:04

    India chants NaMo. Vote for BJP.

  • Hemanth P.
    05/19/2019 03:04

    Maddali Shiva Reddy

  • Anis A.
    05/19/2019 03:06

    ye maha chutya hai isko harwa dena chahiye

  • Khurshid A.
    05/19/2019 03:06

    Bhand mirasi nachne gaane wala

  • Sushant S.
    05/19/2019 03:07

    #baklolwa

  • Ali O.
    05/19/2019 03:07

    Shiva Reddy

  • Kushal S.
    05/19/2019 03:09

    Real hardship of life .

  • محمد ف.
    05/19/2019 03:09

    #अच्छे_दिन_आ_गए:#सरकारी_कर्मचारी कुछ दिन पहले ही केंद्रीय विद्यालय संगठन ने सभी केंद्रीय विद्यालय को पत्र लिख कर हिदायत दी है है कि 50/55 की आयु तक पहुंचने वाले कर्मचारियों के मामलों की छः माह पहले ही समीक्षा की जाए और उन्हें #जनहित में रिटायर किया जाए। इस बाबत उन्हें तिमाही रपट भी भेजने को कहा गया है। (चाहें तो आदेश की प्रति इनबॉक्स भी भेजी जा सकती है) पहले दो लाख खाली पद समाप्त किए गए और अब रेलवे के 1100 पदों को खत्म करने की तैयारी हो रही है। #जनहित की टोपी तो हर एक सिर पर फिट हो जाती है। नियम बनाने वालों ने कभी नहीं सोचा होगा कि इस प्रावधान का ऐसा दुरुपयोग भी हो सकता है। उन्होंने तो अपवादिक मामलों में इसका इस्तेमाल करने की बात कही थी और 'कर्मचारियों' हितैषी सरकार तो हंसिए की तरह खेत की पूरी फसल ही काटे जा रही है। कर्मचारियों के प्रति इनके दिमागी रुझान को वेतन आयोग की कहानी के जरिए भी समझा जा सकता है। वेतन आयोग की कहानी : आंकड़ों की ज़ुबानी पहला वेतन आयोग 1947 -40% वेतन वृद्धि दूसरा वेतन आयोग 1959. - 50% वेतन वृद्धि तीसरा वेतन आयोग 1973. -25% वेतन वृद्धि चौथा वेतन आयोग 1986 - 40% वेतन वृद्धि पांचवां वेतन आयोग 1997. -35 % वेतन वृद्धि छठा वेतन आयोग 2006 - 40 % वेतन वृद्धि दिल थाम लो दोस्तो, अब आती है अच्छे दिन वाले वेतन आयोग की बारी अर्थात सातवां वेतन आयोग 2016. -14% वेतन वृद्धि ..!!! जनता ने दो बार भाजपा पर विश्वास जताया और बहुमत से मालामाल कर दिया और दोनों ही बार धोखा खाया ! 'पहली' सरकार ने 'पेंशन खत्म' कर के इस सदी में भर्ती अर्धसैनिक बलों में भर्ती हो कर शहीद हुए लोगों के परिवारों को भूखे मरने पर मजबूर कर दिया और 'दूसरी' सरकार ने सभी कर्मचारियों के वेतन पर कैंची चला कर उनका जीना मुहाल कर दिया !!! #सातवें_वेतन_आयोग की यह तिलिस्मी सरकार ऐसी नई नवेली बहू है जो रोटी तो कम बेलती है चूड़ियां ज्यादा खनकाती है ताकि आस पड़ोस ही नहीं बल्कि सारा मोहल्ला जान जाए कि नई बहू सुबह से शाम तक कितना खटती है, कितना थकती है, मगर फिर भी वह शिकायत कभी नहीं करती ! बहुत ही सुघड़ है, हुनरमंद है क्योंकि उसको यक़ीनन वह हुनर आता है, कैसे बारात या किसी फंक्शन में कहां खड़े रहना है कहां बने रहना है इसीलिए तो हर फोटोफ्रेम में बस उसका ही चेहरा नजर आता है !!

  • Biswa J.
    05/19/2019 03:10

    Chutiya

  • Hemraj J.
    05/19/2019 03:10

    Indian politics is a mud bath... No ideology... No ethics only encased the opportunity and make foolish to people....